सर्वे में हुआ खुलासा, यूके की महिलाएं रिलेशनशिप में रखती हैं बैकअप पार्टनर!

लंदन: एक मार्केटिंग रिसर्च कंपनी द्वारा करवाए गए सर्वे की मानें तो करीब 50 प्रतिशत महिलाएं रिलेशनशिप में बैकअप पार्टनर लेकर चलती हैं। ऑनलाइन और मोबाइल पोलिंग में स्पेशलाइज्ड मार्केटिंग रिसर्च कंपनी वनपोल ने यूके की 1 हजार महिलाओं को इस सर्वे में शामिल किया जिसमें से 50 प्रतिशत प्रतिभागियों फिर चाहे वह शादीशुदा हों या कुंवारी ने माना कि वे बैक-अप प्लान या पार्टनर रेडी रखती हैं।

अगर मौजूदा रिश्ता नहीं चलता तो उससे ब्रेकअप कर दूसरे पार्टनर के पास चली जाती हैं। बैकअप पार्टनर रखने की बात स्वीकार करने वाली ज्यादातर महिलाओं ने माना कि उनका बैकअप पार्टनर उनका पुराना दोस्त होता है जिसे उनमें रोमांटिक इंट्रेस्ट होता है। करीब 10 प्रतिशत महिलाओं ने ये भी कहा कि उनका बैक-अप पार्टनर ऐसा व्यक्ति होता है जिसने पहले कभी न कभी उनसे अपने प्यार और फीलिंग्स का इजहार किया हो।

सर्वे में शामिल प्रतिभागियों ने ये भी कहा कि उनका बैक-अप पर्सन कोई भी हो सकता है- उनका ऑफिस कॉलीग, एक्स हज्बेंड, स्कूल फ्रेंड या फिर जिम पार्टनर। यहां जरूरी ये है कि उस व्यक्ति को वह महिला लंबे समय से जानती हो और वह व्यक्ति भी इस इंतजार में हो कि जब जरूरत पड़े तब वह उसके पास जा सके।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper