सलमान ने डॉक्टर हाथी के इलाज का खर्च उठाया

मुंबई: छोटे पर्दे का कॉमेडी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के लोकप्रिय किरदार डॉक्टर हाथी का अभिनय करने वाले कलाकार कवि कुमार आजाद अब इस दुनिया में नहीं हैं। उनके जीवन से जुड़ी बातों को लोग अब याद कर रहे हैं और बता रहे हैं कि वो कैसे किससे बात करते थे, उन्हें क्या पसंद था और उन्हें किसने बुरे वक्त पर साथ दिया, आदि आदि। दिल का दौरा पड़ने से डॉ हाथी का निधन हो गया। इससे पहले डॉ हाथी का डील-डौल और उनका भारी-भरकम वजन वाला शरीर लोगों को गुदगुदाता था उनकी जान का दुश्मन बन गया।

डॉक्टर हाथी भारी शरीर के कारण अनेक परेशानियों का सामना कर रहे थे। करीब आठ साल पहले, डॉक्टर हाथी शो की शूटिंग के दौरान सेट पर ही बेहोश हो गए थे। इस घटना के बाद उनकी हालत इतीन खराब हो गई थी कि उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराना पड़ गया था। अस्पताल में उनकी बेरियाट्रिक सर्जरी हुई, यहां उनकी मदद के लिए बॉलीवुड अभिनेता और दरियादिल इंसान सलमान खान ने हाथ आगे बढ़ाया। उनके हालात के मद्देनजर बताया जाता है कि सलमान ने उनके इलाज का सारा खर्च खुद उठाया। बताया जाता है कि अस्पताल में हुई इस सर्जरी के बाद डॉ हाथी का वजन 140 किलो तक कम हो गया था। इलाज से पहले उनका वजन 265 किलो बताया गया था।

यही नहीं बल्कि डॉ हाथी का इलाज करने वाले डॉक्टर मुफ्ती लकड़ावाला ने भी अपनी फीस नहीं ली थी, लेकिन यह क्या कम बात है कि सलमान ने दवाओं व अस्पताल और आप्रेशन थिएटर के साथ ही साथ अन्य खर्चों के बिल चुकाए। मीडिया रिपोर्ट्स को यदि सही माना जाए तो डॉ हाथी का इलाज जिस डॉक्टर द्वारा किया गया था वो सलमान के करीबी हैं और सलमान उनके पास जरूरत मंद मरीजों को भेजते और उनका बिल खुदा चुकाते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper