सांप से खेलने के मामले में प्रियंका गांधी को क्लीन चिट, सपेरे पर मामला दर्ज

प्रयागराज: सांपों के साथ खेलने के मामले में प्रियंका गांधी वाड्रा को क्लीन चिट मिल गई है। इस मामले में प्रियंका के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत शिकायत की गई थी। वन विभाग की जांच टीम ने प्रियंका को इस मामले में दोषी नहीं पाया, जबकि सांपों का प्रदर्शन करने वाले दो सपेरों को दोषी पाते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

बता दें कि बीती 2 मई को लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान जनपद के भदोखर थाना क्षेत्र अंतर्गत हंसा का पुरवा गांव में प्रियंका गांधी वाड्रा पहुंचीं और उन्होंने सपेरों से उनकी समस्याओं को सुना तथा अपनी मां सोनिया गांधी के लिए वोट मांगे थे। इसी दौरान वहां पर अपने पिटारे में सांपों को रखे हुए दो सपेरे भी वहां मौजूद थे, जिन्होंने सांपों को प्रियंका को दिखाया।

इस दौरान प्रियंका ने सांपों को छुआ और उन्हें हांथों में भी उठाया, जिसको संज्ञान में लेकर वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत शिकायत हुई। इसी शिकायत पर वन विभाग के डीएफओ तुलसीदास ने एक जांच टीम गठित की। एसडीओ बीएन शुक्ला ने पूरे प्रकरण की जांच की, जिसमें प्रियंका गांधी वाड्रा को क्लीनचिट दी गई। सांपों का प्रदर्शन करने वाले दो सपेरों को दोषी पाया गया, जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper