सात साल की इस बच्ची की बहादुरी को सुनकर आप भी करेंगे सलाम

सरगुजा: सरगुजा संभाग इन दिनों हाथियों के आतंक से जूझ रहा है। सरगुजा जिले के उदयपुर विकास खंड के मोहनपुर गांव में मंगलवार की रात दो हाथियों ने हमला कर एक परिवार को निशाना बनाया। इस दौरान पूरा परिवार घर से भागा लेकिन कुछ दूर जाने पर पता चला कि तीन साल की बच्ची को वो घर पर ही छोड़ आए हैं।

इस बात से परेशान मासूम की बड़ी बहन कांति, जो महज सात साल की है उसने साहस का परिचय देते हुए घर को तोड़ रहे हाथियों के बीच से निकल कर घर मे प्रवेश किया और अपनी तीन साल की छोटी बहन को सुरक्षित निकाल लिया। कांति पैकरा के इस साहस को देखते हुए स्थानीय लोग उसे वीरता पुरस्कार देने की मांग कर रहे हैं।

बालिका के इस साहस को देखते हुए लखनपुर थाना प्रभारी एसके केरकेट्टा ने अपने उच्च अधिकारियों को घटना से अवगत करते हुए बहादुरी पुरस्कार देने के लिए अनुसंशा की है। गौरतलब है कि उसी रात हाथियों ने इस गांव में एक घर में भैंस पर हमला कर उसे घायल कर दिया था और दो अन्य घरों को भी नुकसान पहुंचाया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper