सावधान : पाकिस्तान ने हूबहू छाप दिया हमारे 2000 नोट जैसा नोट

दो दिन पहले इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर जो 24 लाख की जाली करंसी पकड़ी गई थी उसकी जांच के दौरान हैरानीजनक खुलासे हुए हैं। खुलासा ये है कि 2-2 हजार को जो नोट पकड़े गए वे पाकिस्तान में छपे हैं। ये नोट हुबहू भारतीय मुद्रा जैसे हैं और नोटों पर नौ में से 7 सिक्योरिटी फीचर मौजूद थे। साल 2016 में जब 2000 के नोट जारी किए गए थे, तब इन्हें बेहद सुरक्षित नोट बताया गया था। पिछले साल अक्‍टूबर में आरबीआई ने कहा था कि वर्ष 2019 में उसने 2000 का कोई नया नोट नहीं छापा है।

indian 2000 rupee note, RBI के लिए खतरे की घंटी! पाकिस्तान ने 2000 के नोट के सिक्योरिटी कोड हूबहू कर डाले कॉपी

संयुक्त पुलिस आयुक्त संतोष रस्तोगी ने आतंकी कनेक्शन की आशंका को खारिज नहीं करते हुए कहा, सामान्य आदमी इन फर्जी नोटों को पहचान नहीं सकता है। ये नोट एकदम असली लगते हैं। शेख एयरपोर्ट के सिक्‍यॉरिटी चेक से बाहर आ गया था। उसे इंटरनैशनल टर्मिनल के बस स्‍टॉप के बाहर से अरेस्ट किया गया।

indian 2000 rupee note, RBI के लिए खतरे की घंटी! पाकिस्तान ने 2000 के नोट के सिक्योरिटी कोड हूबहू कर डाले कॉपी

पुलिस के मुताबिक ये फर्जी नोट असली नोट से इतने मिलते जुलते हैं कि आरोपी सिक्योरिटी चेक से बच निकलकर बाहर आ गया, बाद में उसे खुफिया एजेंसी सीआईए की सूचना मिलने पर इंटरनेशनल टर्मिनल के बस स्टॉप के पास से अरेस्ट किया गया। नकली नोटों को बैग में इस तरह से रखा गया था कि बैगेज स्कैनर उन्हें पकड़ न सके।

दरअसल स्कैनर बंडल ने रखे गए नोटों को ही पकड़ पाता है, इससे बच निकलने के लिए आरोपी ने नोटों को बैग में अलग-अलग कर रखा था। पुलिस ये जानने में जुटी है कि भारत में ये नकली नोट किसे दिए जाने थे। फिलहाल आरोपी जावेद को अरेस्ट कर उसपर मामला दर्ज किया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper