सीएम योगी की अपील- प्रदेश में स्वदेशी वस्तुओं का हो निर्माण

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विभिन्न प्रदेशों से आने वाले कामगारों व श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास जारी है। हर हाथ को काम मिले, इस नीति पर प्रदेश सरकार काम कर रही है। इसी नीति के तहत इंडियन इंडस्ट्री एसोसिएशन सहित अन्य औद्योगिक संस्थाओं के साथ शुक्रवार को एमओयू साइन किया जा रहा है। जिससे प्रदेश के 9 लाख लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। सीएम योगी ने निवेशकों से अपील करते हुए कहा कि उनके योगदान से प्रदेश में स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन को गति मिलेगी, साथ ही बहुत से लोगों को रोजगार भी प्राप्त होगा। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। अबतक 4062 लोगों ने कोविड—19 को मात देने में सफलता प्राप्त की है।

उक्त जानकारी गुरूवार को लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को दी। अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि गुरूवार को टीम 11 के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कामगारों व श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने व लॉकडाउन की समीक्षा की।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन पर बल देते हुए निवेशकों को आमंत्रित किया है। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में स्वदेशी उत्पादन बढ़ने से रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। जिसका लाभ कामगारों और श्रमिकों को मिलेगा। उन्होंने बताया कि सीएम योगी के निर्देश पर पल्स ऑक्सीमीटर की खरीद शुरू कर दी गई है। पल्स ऑक्सीमीटर को पूरे प्रदेश में वितरित करने का आदेश सीएम योगी ने दिया है। प्रदेश में कार्यरत एएनएम, आशा वर्कर व फील्ड में तैनात अधिकारियों को शीघ्र ही पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध करा दिया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री प्रदेश के अलग अलग हिस्सों का दौरा करें और मौजूदा हालातों की समीक्षा करें। सीएम योगी आज खुद श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल का निरीक्षण कर जरूरी दिशा निर्देश दिए। सीएम योगी के निर्देश पर कोरोना संक्रमण के उपचार के लिए मौजूद 78 बेड्स को एक हफ्ते में 1 लाख करने का आश्वासन स्वास्थ्य विभाग ने दिया है।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गृह व पुलिस विभाग को निर्देश दिया है कि प्रदेश में जो भी बिना मास्क के घूमते मिले उससे नियमानुसार जुर्माना लिया जाए। साथ ही 5—5 रुपये में सरकार उसे मास्क भी मुहैया करवा रही है।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गुरूवार को 2 बजे तक यूपी में 1411 ट्रेन आ गई हैं। जिनमें 19 लाख 15 हजार लोग आए हैं। उन्होंने बताया कि गुरूवार को 63 अन्य ट्रेन भी आने वाली हैं। इसके अतिरिक्त भी 140 ट्रेनों के आने की सहमति दी गई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अबतक करीब 27 लाख से अधिक लोगों की वापसी हो गई है।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 11 मई से ही प्रदेश में एक्टिव केस कम हो रहे है और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक होने का क्रम जारी है। उन्होंने बताया कि उपचार के बाद 4062 पेशेंट पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। हालांकि अबतक 189 लोगों की मौत भी हुई है। उन्होंने बताया कि बुधवार को 7923 सैंपलों की टेस्टिंग की गई। उन्होंने बताया कि बुधवार को 649 पूल टेस्ट किए गए। अबतक आइसोलेशन में 2048 लोगों को और क्वारंटीन में 8454 लोगों को रखा गया है।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सर्विलांस में 94 हजार 856 टीम लगी रहीं। इन टीमों ने 12 हजार 625 इलाकों में 74 लाख 47 हजार 339 घरों का सर्वेक्षण किया। साथ ही 3 करोड़ 74 लाख 46 हजार 942 लोगों की जांच भी किया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में काफी संख्या में कामगार व श्रमिकों की वापसी हुई है। सभी को होम क्वारंटीन में 21 दिनों तक रहने के लिए कहा गया है। होम क्वारंटीन में रहने वालों की जांच के लिए आशा वर्करों को भी तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि आशा वर्करों द्वारा अबतक 10 लाख 08 हजार 531 लोगों की जांच गई है। जांच के दौरान 959 लोगों के अंदर लक्षण मिले। जिनका उपचार किया जा रहा है। इन 959 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया। जिनमें से 297 सैंपलों की रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट के आधार पर 88 लोग संक्रमित मिले।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम द्वारा 38 हजार 54 फोन कॉल किए गए। बातचीत से प्राप्त जानकारी के आधार पर 104 लोगों को संक्रमित पाया गया, जबकि 49 लोग उपचार के बार स्वस्थ्य होकर घर चले गए हैं। हालांकि अभी भी 1248 लोगों को क्वारंटीन किया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper