सीमा पर सेना की बड़ी कार्रवाई, नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे 3 आतंकी ढेर- भारी मात्रा में हथियार बरामद

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान की साजिश को एक बार फिर नाकाम कर दिया है। सैनिकों ने नौशेरा सेक्टर में सीमा के पास घुसपैठ कर रहे तीन आतंकियों को ढेर कर दिया है। इन आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। सेना ने पूरे इलाके को सील कर दिया है और तलाशी अभियान चला रही है। रक्षा सूत्रों ने कहा, “28 मई 2020 से चल रहे एक जवाबी घुसपैठ अभियान में, भारतीय सेना के सतर्क सैनिकों ने नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ करने की कोशिशों को समाप्त कर दिया।”

आतंकवादी भारी हथियारों से लैस थे और पाकिस्तान में प्रशिक्षित हुए थे। सुरक्षा बल, इलाके में तलाशी अभियान चला रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए भारत में घुसने की कोशिश करने वाले आतंकवादियों के बारे में खुफिया एजेंसियों द्वारा सचेत किए जाने के बाद से ही काउंटर घुसपैठ शुरू हो गई। एजेंसियों ने कहा, पाकिस्तान एलओसी के पार आतंकियों को भेजने की कोशिश कर रहा है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, गुरेज सेक्टर के सामने स्थित पाकिस्तान पोस्ट और सरदारी पर केंद्रित अज्ञात आतंकवादियों के दो समूह घुसपैठ की योजना बना रहे थे।

एजेंसियों ने यह भी बताया कि एक अन्य सेट जैश-ए-मोहम्मद के नेतृत्व वाले अज्ञात आतंकवादी हैं जो माछिल सेक्टर के विपरीत ओर केल और तेजियन में केंद्रित हैं और घुसपैठ की योजना बना रहे थे। भारतीय सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में नियंत्रण रेखा के करीब 15 लॉन्च पैड आतंकवादियों से भरे हुए हैं। अधिकारी ने कहा कि उन्हें आशंका है कि इस गर्मी में सीमा पार से घुसपैठ के प्रयासों में वृद्धि हो सकती है, ताकि वे घाटी में घटते आतंकवादी कैडरों की भरपाई कर सकें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper