सुशांत सिंह केस : रिया चक्रवर्ती को लेकर घर के स्वीपर ने खोले कई राज

पटना: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की मिस्ट्री सुलझाने में जुटी पटना पुलिस की एसआईटी शनिवार को मौका-ए-वारदात पर गई और सुशांत की आत्महत्या करने के सीन का खाका (रीक्रिएशन) खींचा। सीन रीक्रिएशन वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान करने का तरीका है। सूत्रों की मानें तो अफसर बारीकी से देख रहे थे कि जिस कमरे में सुशांत का शव मिला, क्या वहां कोई आत्महत्या कर सकता है। इस पूरी प्रकिया के दौरान सुशांत के कुछ कर्मी भी मौजूद थे। सूत्र बताते हैं कि घटना के काफी दिन हो चुके हैं, लिहाजा सुशांत के कमरे या पूरे घर में ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला, जिसका इस प्रकरण से संबंध हो।

घर के स्वीपर से भी पूछताछ
पुलिस टीम ने घर के स्वीपर से भी पूछताछ की। स्वीपर ने बताया कि रिया मैडम की इजाजत के बिना कोई भी घर में नहीं घुस सकता था। मैडम ही तय करती थीं कि सुशांत के कमरे को साफ करना है या नहीं। खासकर सुशांत के कमरे में किसी बाहरी कर्मी को जाने नहीं दिया जाता था। एक समय ऐसा आ गया, जब वे अपने ही कर्मियों से नहीं मिल पाते थे।

निर्देशक रूमी जाफरी का पुलिस ने लिया बयान
फिल्म निर्देशक रूमी जाफरी से भी एसआईटी ने बयान लिया। दरअसल, लॉकडाउन के बाद सुशांत और रिया रूमी की फिल्म में काम करने वाले थे। मार्च में उनकी बात रूमी जाफरी से हुई थी। तब सुशांत ने भी लॉकडाउन होने का हवाला दिया था। यह सुशांत और उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती की एक साथ पहली फिल्म थी। जाफरी ने बताया कि जब भी लॉकडाउन आगे बढ़ता था तो सुशांत अपसेट हो जाते थे।

सुशांत सिंह राजपूत मामले का पूरा सच सामने लाएंगे : डीजीपी
डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा है कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले का पूरा सच बिहार पुलिस सामने लाएगी। हम रहस्य से पर्दा उठाकर रहेंगे। बिहार पुलिस की टीम मुंबई में कैंप की हुई है और पूरे मामले की छानबीन में जुटी है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बिहार पुलिस की टीम को मुंबई पुलिस ने शुरुआत में अपेक्षित सहयोग नहीं की। पर, पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक ने वहां बात की और आगे पूरा सहयोग का आश्वासन मुंबई पुलिस ने दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper