सोनिया-मेनका परिवार में एकता की सम्भावना बढ़ी

दिल्ली ब्यूरो: क्या सोनिया गाँधी और मेनका गांधी का परिवार अब एक होने की तयारी कर रहा है ? राजनीतिक गलियारों में तो इसी तरह की चर्चा चल रही है।खबर के मुताविक सोनिया और मेनका गांधी परिवार एक साथ आ सकता है। पिछले काफी सालों से दोनों गांधी परिवार अलग हैं। सोनिया गांधी ने जहां कांग्रेस में रहकर ही अपने राजनीतिक सफर को आगे चलाया वहीं मेनका गांधी और उनके बेटे वरुण गांधी भाजपा में हैं। ये कयास बेबुनियाद नहीं लगाए जा रहे हैं।

दरअसल हाल ही में नरभक्षी बाघिन अवनी की हत्या को लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुंगतीवार पर ट्विटर और सार्वजनिक रूप से हमला बोला और सरकार से इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है। अपनी ही पार्टी से मनमुटाव के चलते मेनका गांधी इन दिनों सुर्खियों में हैं। वहीं मुंगतीवार कैबिनेट के कद्दावर मंत्री हैं। वह संघ के भी वफादार माने जाते हैं। दूसरी तरफ मेनका के बेटे वरुण भी पार्टी हाईकमान से खुद को पूरी तरह अलग कर चुके हैं।

सोनिया का मेनका के कार्यक्रम में आना सभी के लिए चर्चा का विषय बन गया तो दूसरी ओर राहुल गांधी ने भी बाघिन अवनी की हत्या का विरोध कर अपनी चाची मेनका गांधी का साथ दिया। इन घटनाओं के बाद भाजपा में भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि गांधी परिवार के दोनों धड़े एक हो सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper