स्पाई कैम पॉर्न के खिलाफ साउथ कोरिया में म‎हिलाओं ने सड़क पर ‎किया प्रदर्शन

सोल: साउथ कोरिया की राजधानी सोल में श‎निवार को हजारों महिलाएं पोस्टर-बैनर लेकर छिपे हुए कैमरों की मदद से ली जा रहीं अंतरंग तस्वीरें और विडियो को फैलाने के खिलाफ सरकार की सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर सड़कों पर उतरीं थी। महिलाओं का कहना है कि साउथ कोरिया में इस समस्या ने इतना विकराल रूप ले लिया है कि वे लगातार मानसिक दबाव से जूझ रहीं हैं। पुलिस ने बताया कि केवल महिलाओं के इस प्रदर्शन में 18000 से अधिक प्रदर्शनकारी शामिल हुईं थीं। महिलाएं उन पुरुष अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहीं हैं जो बिना उनकी जानकारी के अंतरंग तस्वीरें और विडियो बनाकर उन्हें ऑनलाइन वायरल कर रहे हैं। अधिकतर प्रदर्शनकारियों ने आयोजकों के निर्देश के मुताबिक अपने चेहरों को बेसबॉल कैप्स, सर्जिरल मास्क्स और चश्मों से कवर कर रखा था।

साउथ कोरिया में बाथरूम में छिपाकर रखे गए कैमरों से महिलाओं के निजी पलों की तस्वीरें और विडियो बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा सबसे स्टेशनों पर ऐसे कैमरों की मदद से उनके स्कर्ट के अंदर की तस्वीर खींची जा रही है। फिर इन तस्वीरों और विडियो को इंटरनेट पर डाल दिया जा रहा है। व्यापक स्तर पर चल रहे इस ‘स्पाई कैम पॉर्न’ के खिलाफ महिलाओं ने शनिवार को जमकर प्रदर्शन किया। हालांकि इस प्रदर्शन के आयोजकों की इस बात को लेकर आलोचना हुई कि इसमें केवल महिलाओं को ही शामिल होने की अनुमति दी गई। कई प्रदर्शनकारी महिलाओं ने लाल टी शर्ट्स पहन रखीं थीं जिसपर लिखा था कि ‘क्रोधित महिलाएं दुनिया बदल देंगी’।

दो महिला प्रदर्शनकारियों ने तो मंच पर ही अपने सिर के बाल तक कटा लिए। साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ-इन ने अधिकारियों को आदेश दिया है कि हिडन कैमरा क्राइम के लिए कड़ी सजा की व्यवस्था करें। साउथ कोरिया की सरकार ने कैमरे को पकड़ने वाले उपकरणों और पब्लिक स्पेस व प्राइवेट बिल्डिंग के बाथरूम की बेहतर जांच के लिए स्थानीय सरकारों पर 45 लाख डॉलर खर्च करने की योजना बनाई है। सरकार ने प्राथमिक, मिडिल और हाई स्कूलों में कड़ाई से जांच करने का प्लान बनाया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper