हँसते खेलते दें बोर्ड की परीक्षा

जैसे-जैसे बोर्ड परीक्षाओं की तारीख नजदीक आ रही है, छात्रों के दिल की धड़कनें तेज हो गई हैं और वे टेंशन में हैं। लेकिन आप टेंशन को दूर रखकर हंसते-खेलते पढ़ाई करके आसानी से कम समय में भी अच्छे नंबरों से परीक्षा पास कर सकते हैं। मनोविज्ञानियों का कहना है कि एग्जाम कब होते हैं, एग्जाम में क्या सवाल पूछे जाते हैं, एग्जाम देने के बाद क्या रिजल्ट आता है, ये तीनों चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं होतीं।

जो चीज हमारे नियंत्रण में न हो, हमें उस बारे में नहीं सोचना चाहिए। आपने साल भर जो मेहनत की है, उसके साथ आत्मविश्वास जगाएं, अभी भी परीक्षा में काफी समय है। हंसते-खेलते पढ़ाई करें और हंसते-खेलते एग्जाम दें, क्योंकि जब हम टेंशन कम रखते हैं, तो माक्र्स ज्यादा आते हैं। पढ़ाई के दिनों में खेल-खेलने से भी अच्छे माक्र्स आते हैं, क्योंकि आप रिलेक्स होते हैं। इसके अलावा लाइफस्टाइल अच्छी करें, आउटडोर एक्टिविटी करें, दूसरों से तुलना न करें, सेल्फ टेस्ट लेने से मानसिक तनाव दूर होता है।

तनाव महसूस कर रहे हैं, तो पैरेंट्स से बात करें और रिलेक्स रहें। परीक्षा के दौरान माता-पिता की भूमिका के बारे में मनोविज्ञानी कहते हैं कि पैरेंट्स को पॉजिटिव रहना चाहिए। बच्चों का साथ दें, पढ़ाई में उनकी मदद करें, रोक-टोक नहीं करनी चाहिए। ध्यान रखें कि बच्चा परेशान न हो। अगर आपका बच्चा टेंशन में है, तो उसकी टेंशन कम करने में मदद करें, उसे आत्मविश्वास दिलाएं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper