हैदराबाद में कुएं में मिली 9 लाशें, मचा हड़कंप, मृतकों में एक ही परिवार के 6 सदस्य

हैदराबाद: तेलंगाना के वारंगल शहर के बाहर गौर्रेकुंटा गांव में कोल्ड स्टोरेज के पास एक खुले कुंएं से आठ प्रवासी मजदूरों समेत नौ लोगों के शव बरामद होने से सनसनी फैल गई है। पुलिस के मुताबिक इनमें से चार लोगों के शव गुरुवार को बरामद किये गये थे जबकि बाकी शव शुक्रवार की सुबह को बरामद किये गये। इनमें से छह लोग पश्चिम बंगाल के एक ही प्रवासी परिवार के सदस्य थे जबकि दो अन्य बिहार के प्रवासी मजदूर थे वहीं एक अन्य व्यक्ति स्थानीय निवासी बताया जा रहा है।

सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए वारंगल के महात्मा गांधी अस्पताल भेज दिया गया है। पुलिस इस हृदयविदारक घटना की सामूहिक आत्महत्या या हत्या समेत हर पहलु पर गौर करते हुए जांच कर रही है। घटना की जांच के लिए पुुलिस की विशेष टीमों का गठन किया गया है और श्वान दस्ते व क्लू टीमों की भी मदद ली जा रही है।

मकसूद (55) और निशा (48) पश्चिम बंगाल के रहने वाले दंपत्ति 20 साल पहले मजदूरी करने के लिए तेलंगाना आए थे। वे यहां मजदूरी का काम करते हुए गुजारा कर रहे थे। उनकी एक बेटी बुसरा खातून (22), दो बेटे साबाद आलम (21) और सोहैल आलम (18) थे। बुसरा की शादी हो गई थी, लेकिन वह अपने बेटे (3) का साथ माता पिता के साथ रहती थी। इस परिवार के सभी 6 लोगों का शव कुएं में मिला है।

इसके आलावा 3 अन्य लोगों के शव भी बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि 1 शव त्रिपुरा के रहने वाले प्रवासी मजदूर शकील (30) का है और 2 अन्य बरामद शवों की जानकारी मिलना अभी बाकी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper