2 हफ्ते में जड़ से खत्म हो जाएगी बवासीर!

आजकल बहुत से लोग पाइल्स यानी बवासीर की बीमारी से पीड़ित है। बवासीर के कारण मलाशय के आस-पास मस्से, नसों में सूजन, जलन, असहनीय दर्द और यूरिन से खून आने की समस्या रहती है। इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए लोग दवाइयों या ऑपरेशन का सहारा लेते है लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों से इस बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सकता है। आइए जानते है बवासीर को जड़ से खत्म करने के बचाव और उपचार।

बवासीर में इन बातों का रखें खास ख्याल

इस बीमारी के दौरान नहाते समय गर्म पानी का इस्तेमाल करें और हमेशा बैठ कर नहाएं। इसके अलावा बवासीर वाली जगहें को कॉटन के कपड़े से अच्छी तरह साफ करें।
सूजन और दर्द को कम करने के लिए आइस पैक से कुछ देर सिंकाई करें।
मस्सों पर होने वाली खुजली को दूर करने के लिए पैट्रोलियम जैली को मस्सों पर लगा कर रखें।
बवासीर की बीमारी में हमेशा कॉटन अंडरवियर ही पहनें। कॉटन अंडरवियर पस या खून निकलने पर चिपकती नहीं।
एक दिन में कम से कम 6-8 गिलास पानी पीने से बवासीर दर्द से राहत मिलती है।इसके अलावा इस बीमारी में ज्यादा से ज्यादा आराम करें।

इन घरेलू तरीकों से करें इलाज
1. एलोवेरा

एलोवेरा जेल को फ्रिज में ठंडा करने के बाद बवासीर के मस्सों पर धीरे-धीरे मसाज करें। रोजाना मालिश करने से आपको बवासीर और उसके मस्सों से छुटकारा मिल जाएगा।

PunjabKesari

2. गोल्डन रॉड पौधा
1/4 कप गोल्डन रॉड को 2 कप पानी में 15 मिनट तक उबाल लें। इसे नहाने के पानी में मिक्स करके रोजाना इसके पानी से स्नान करने पर 2 हफ्ते में ही बवासीर दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

3. विच हैजल
कॉटन को विच हैजल में भिगोकर मस्सों पर धीरे-धीरे लगाएं। नियमित रूप से इसे लगाने पर बवासीर जड़ से खत्म हो जाएगी।

PunjabKesari

4. यैरो पौधा
इसे पानी में उबाल कर रोजाना इसके पानी से स्नान करें। इससे आपको बवासीर जलन से छुटकारा मिलेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper