32 किमी दूर था अस्पताल, डॉक्टर ने रोबोट के जरिए मरीज के दिल में स्टेंट डाला

अहमदाबाद: गुजरात में इंसान के दिल पर पहली टेलीरोबोटिक कोरोनरी सर्जरी बुधवार को की गई। यहां एक विशेषज्ञ डाक्टर ने दिल की बीमारी से जूझ रही एक बुजुर्ग महिला का 32 किलोमीटर दूर से ही एक रोबोट के जरिए कामयाब ऑपरेशन किया। खास बात ये है कि इस प्रकार की ये दुनिया में पहली टेलीरोबोटिक हार्ट सर्जरी है, जिसे कुछ ही मिनटों में अंजाम दिया गया। इस सर्जरी को एक बड़ी स्क्रीन पर राज्य के सीएम विजय रूपाणी और मीडिया ने भी देखा।

मिली जानकारी के अनुसार, इस ऑपरेशन को जाने-माने हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. तेजस पटेल ने अंजाम दिया। उन्होंने गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर से 32 किमी दूर अहमदाबाद में स्थित अपने अस्पताल एपेक्स हार्ट इंस्टीट्यूट में इस सर्जरी को अंजाम दिया। उन्होंने महिला के दिल से रोबोट के जरिये ब्लॉकेज को हटाया और स्टेंट भी डाला। रोबोट को निर्देश देने के लिए उन्होंने 100 एमबीपीएस की इंटरनेट लाइन का इस्तेमाल किया। हालांकि उन्होंने कहा कि 20 एमबीपीएस की इंटरनेट लाइन हो तो भी कोई परेशानी की बात नहीं है।

राष्ट्रपति कोविंद, नायडू, मोदी ने अंबेडकर को श्रद्धांजलि दी

डॉ. तेजस ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह प्रक्रिया चिकित्सा जगत में एक नई राह खोलेगी। इस प्रक्रिया के लिए अमेरिका के कोरिंडस वैस्कुलर रोबोटिक्स इंक की कोरपाथ तकनीक का इस्तेमाल किया गया। यह प्रक्रिया अभी महंगी है पर समय के साथ-साथ सस्ती हो जाएगी। इससे दूर बैठे मरीज का भी विशेषज्ञ की सहायता से रोबोट के जरिए ऑपरेशन संभव हो जाएगा। गौरतलब है कि अकेले भारत में ही दूर-दराज के क्षेत्रों में सही इलाज नहीं मिलने से लाखों लोगों की मौत हो जाती है। ऐसे में ये तकनीक उम्मीद की नई रोशनी लेकर आई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper