4 अगस्‍त से हरियाणा में खुलेंगे कॉलेज, अभी टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ को आना होगा

कुरुक्षेत्र: हरियाणा के काॅलेज विद्यार्थियों व स्‍टॉ‍फ के लिए बड़ी खबर है। हरियाणा सरकार ने 4 अगस्‍त से राज्‍य में सभी कॉलेज खुल जाएंगे। इस संबंध में उच्‍चतर शिक्षा विभाग ने कॉलेजों के प्रार्चायों को पत्र जारी किया है। राज्‍य में कोरोना के कारण लागू किए गए लॉकडाउन मार्च से स्‍कूल और कॉलेज बंद हैं। कालेजों में फिलहाल टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ आएगा। दाखिला प्रक्रिया पूरी होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन अनुसार कक्षाएं शुरू करने या नहीं करने के बारे में फैसला किया जाएगा।

उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने कालेज प्राचार्यों को पत्र जारी किया
उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी कॉलेज प्राचार्यों को पत्र जारी कर दिया है। जारी आदेशों के अनुसार प्रिंसिपल कॉलेज में सैनिटाइजेशन और शारीरिक दूरियों के नियमों का पालन कराने को अधिकृत होंगे। कालेजों में अगले आदेशों तक कोई भी स्टूडेंट नहीं आएगा। विदित है कि लॉकडाउन के साथ कालेज बंद कर दिए गए थे।

70 फीसद सिलेबस ऑनलाइन कराना होगा
कालेजों में पहले नए सत्र के दाखिले ऑनलाइन होंगे। सभी कालेजों को अपने स्तर पर टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई शुरू करानी होगी। टीचर इसके अनुसार ही ऑनलाइन लेक्चर देंगे। प्रैक्टिकल के विषयों को नवंबर तक पूरा करना होगा। 70 फीसद सिलेबस ऑनलाइन पढ़ाना होगा। बाकी 30 फीसद क्लास में पढ़ाना होगा। यह सब स्थिति सामान्य होने पर पढ़ाया जाएगा। टीचर को गूगल और एमएस समेत अन्य विकल्पों के माध्‍यम से पढ़ाना होगा।

नजदीकी सीएससी में लगा सकेंगे क्लास
उच्‍च शिक्षा निदेशालय ने इंटरनेट और मोबाइल न रखने वाले विद्यार्थियों को बड़ा विकल्प दिया है। जारी आदेशों के अनुसार ऐसे विद्यार्थी अपनी नजदीकी सीएससी में ऑनलाइन क्लास लगा सकेंगे। इसके साथ ही विश्वविद्यालय को खोलने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। माना जा रहा है कि अगले दो-तीन दिन में पत्र जारी हो जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper