75 प्रतिशत छात्रों को नहीं भाती ऑनलाइन पढ़ाई

लॉकडाउन के कारण कई देशों में ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो गई है। अमेरिका के क्लिंटन, न्यूयॉर्क में हेमिल्टन कॉलेज ने फैकल्टी सदस्यों के लिए चलते-फिरते वाई-फाई स्टेशन बनाए हैं। वर्जीनिया टेक में संगीत की पढ़ाई करने वाले छात्रों को टिक टॉक वीडियो बनाने का काम सौंपा गया है। पेनसिल्वानिया, ईस्टन में कॉलेज फैकल्टी कार्ड बोर्ड और रबर बैंड का उपयोग कर दस्तावेजी कैमरे बना रही है। इसके साथ चर्चा चल पड़ी है कि क्या छात्र वास्तविक कॉलेज कैंपस से वर्चुअल क्लास रूम की तरफ बढ़ेंगे, लेकिन संकेत हैं कि ऐसा नहीं होगा। दो सर्वेक्षणों में 67 से 75 प्रतिशत छात्रों ने क्लास रूम की पढ़ाई को बेहतर बताया है।
67 फ़ीसदी को पसंद क्लास रूम की पढ़ाई : विशेषज्ञों का कहना है, ऑनलाइन शिक्षा का कुछ महत्वपूर्ण प्रभाव तो पड़ेगा, लेकिन जरूरी नहीं कि सभी छात्र ऑनलाइन अनुभव को पसंद करेंगे। ऑनलाइन परीक्षा की तैयारी कराने वाली संस्था वन क्लास ने 1300 छात्रों का सर्वे किया था। 75 फीसदी से अधिक छात्रों ने कहा कि इस तरह की पढ़ाई उच्चस्तर की नहीं है। स्कूल, कॉलेजों की रेटिंग करने वाली वेबसाइट नाइच डॉट कॉम ने अप्रैल की शुरुआत में 14 हजार कॉलेजों में ग्रेजुएट छात्रों का सर्वे किया था। 67 फीसदी छात्रों ने कहा कि ऑनलाइन क्लास आमने-सामने पढ़ाई के मुकाबले बेहतर नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper