ArmyDay पर सेना प्रमुख की पाकिस्तान को चेतावनी, ‘हर हरकत पर नजर, देंगे जोरदार जवाब’

नई दिल्ली: सेना दिवस के अवसर पर बुधवार को दिल्ली छावनी स्थित परेड ग्राउंड में आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और हर जवान को सलाम किया। सेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय सेना के जवान आने वाली हर चुनौती से भिड़ने के लिए तैयार हैं। सेना दिवस के अवसर में दिल्ली में परेड का आयोजन किया गया, जिसमें जवानों ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया।

इस दौरान सेना प्रमुख ने कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए हमारे पास बहुत विकल्प हैं। हमारी नजर दुनिया में होने वाली हर गतिविधि पर है। भारतीय सेना भी जोरदार तरीके से जवाब देगी। भारतीय सेना और असम राइफल की मुस्तैदी की वजह से पूर्वोत्तर में सुरक्षा हालात में सुधार आया है। वहां अलगाववादी पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

पाकिस्तान प्रयोजित आतंकवाद पर सेना प्रमुख नरवणे ने बड़ा बयान दिया। जनरल नरवणे ने कहा, ‘आप निश्चिंत रहें कि सरकार आपकी जंगी जरूरतों को हर हाल में पूरा करेगी। आतंकवाद के खिलाफ हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति है, आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने से हिचकिचाएंगे नहीं। सैनिक ही भारतीय सेना की सबसे बड़ी ताकत है’

सेना प्रमुख ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना ऐतिहासिक कदम था। इससे पहले सेना प्रमुख ने परेड की सलामी और शहीद जवानों को सम्मानित किया। आज चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने भी परेड की सलामी ली। आज का सेना दिवस समारोह इसलिए भी खास रहा क्योंकि पहली बार कोई महिला ऑफिसर परेड एडजुटेंट के रूप में शामिल हुईं। यह सम्मान पाने वाली पहली महिला ऑफिसर बनीं कैप्टन तान्या शेरगिल।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper