IAS के इंटरव्यू में पूछा यदि आप एक लाल पत्थर को नीले समुन्द्र में फेंकते हो तो क्या होगा ?

लखनऊ: दोस्तों, आप सभी को जानते ही होंगे कि आईएएस की परीक्षा कितनी कठिन परीक्षा होती हैं | आईएएस बनने के लिए लोग काफी सालो तक पढाई करते हैं, लेकिन फिर भी 99 प्रतिशत लोग आईएएस के इंटरव्यू में रह जाते हैं |

आईएएस के इंटरव्यू में इंटरव्यूअर कैंडीडेटस से अटपटे सवाल पूछते हैं जिनके बारे में सुनते ही कैंडीडेटस चकरा जाते हैं | आईएएस के इंटरव्यू में कैंडीडेटस को लगभग 99 प्रतिशत सवालों के जवाब अपनी तर्कशक्ति के आधार पर देने होते हैं | आज भी हम आपको आईएएस के इंटरव्यू में पूछे गए कुछ सवालों के बारे में बताएंगे | चलिए आगे पढ़ते हैं –

सवाल : यदि आप एक लाल पत्थर को नीले समुन्द्र में फेंकते हो तो क्या होगा ?
जवाब : अरे भाई, होगा क्या पत्थर गीला हो जाएगा और पानी में डूब जाएगा |
सवाल : बाइक अपने पैरो पर रेस्ट में क्यों रहती है ?
जवाब : बाइक अपने पैरो पर रेस्ट में इसलिए रहती हैं, क्योंकि वह चलते-चलते थक जाती है |
सवाल : भगवान राम ने अपनी पहली दिवाली कहा मनाई होगी ?
जवाब : समुन्द्र में
सवाल : दिल्ली में प्रदूषण का लेवल दिनो-दिन बढ़ता जा रहा है जिससे बाकि के भी कई शहर प्रभावित हो रहे है, कारण बताइए ?
जबाब : दिल्ली में प्रदूषण का मेन कारण पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कम प्रयोग करना हैं |
सवाल : कौन सी मछली अपनी आंखे बंद नही कर सकती है ?
जबाब : गोल्डफिश
सवाल : किस देश में दो राष्ट्रपति होते है ?
जबाब : सानमारिनो में
अगर आपको आईएएस के इंटरव्यू में पूछे गए ये सवाल अच्छे लगे तो लाइक और शेयर कीजिए और नीचे कमेंट कीजिए | अगर आपको रोजाना आईएएस के इंटरव्यू में पूछे गए सवालों के बारे में जानना हैं हमें फॉलो कर सकते हो | दोस्तों नीचे कमेंट बताइए आपको ये सवाल कैसे लगे |

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper