कानपुर में बाल मजदूरी कराते मिले तो होगी कठोर कार्रवाई

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में बाल मजदूरी को लेकर जिला प्रशासन सख्त हो गया है जिसके चलते कानपुर के जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत ने बाल मजदूरी रोकने के संबंध में सहायक श्रम आयुक्त को निर्देश देते हुए कहा है कि जिस भी फैक्ट्री ,दुकान में कोई भी बाल मजदूरी कराते मिले तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये।

जिलाधिकारी ने कहा कि बाल मजदूरी कराने वालों के चालान किये जायें और उन बालको की सूची बीएसए को देकर उनके घरों के पास प्राथमिक विद्यालयों में उनका पंजीयन कराकर उनको शिक्षित किया जाये। रात्रि मे गेस्ट हाउस , होटलों में औचक छापेमारी कर बाल मजदूरी रोकी जाये।

बाल मजदूरी रोकने के लिए रात्रि में भी औचक छापेमारी की जाए और जहां भी ऐसे श्रमिक मिलते है उन्हें वहां से अवमुक्त कराते हुए सम्बन्धित लोगों पर कार्रवाई की जाये। मजदूरी में पकड़े गए बालकों के पुनर्वास की वयवस्था हो।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper