IIT कानपुर ने तैयार किया विशेष प्रकार का चैंबर, घुसते ही साफ़ हो जाएगा वायरस

कानपुर: अस्पताल, शॉपिंग मॉल और संवेदनशील इलाकों में कोरोना के साथ ही अन्य वायरस को भी प्रवेश करने से रोका जा सकेगा। आईआईटी कानपुर ने इसके लिए एक विशेष प्रकार का चेम्बर तैयार किया है। डीकांटेमिनेशन चेम्बर (कीटाणुशोधन चेम्बर) में प्रवेश करने वाले के शरीर या कपड़ों पर लगे 90 फीसदी कीटाणु मर जाते हैं। इसमें स्प्रे और हीटिंग चक साथ लगे हैं। यह कोरोना से लड़ाई में बहुउपयोगी साबित हो सकता है। आईआईटी के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर के मुताबिक इस चेम्बर को शहर के संवेदनशील इलाकों में लगाने के लिए जिला प्रशासन ने प्रस्ताव रखा है।

कोविड-19 के खिलाफ चल रही लड़ाई में आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक निरंतर अपने हौसले और प्रतिभा की बदौलत नई-नई खोज कर रहे हैं। स्थान के कंप्यूटर साइंस विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि यह विशेष चेम्बर यूनिक है। इसमें दो चेम्बर स्प्रे और हीटिंग अलग-अलग हैं। ये दोनों मिलकर कीटाणुओं को नष्ट कर देते हैं।

पहले स्प्रे चेम्बर है, जहां एक विशेष केमिकल का स्प्रे होता है, जो काफी हद तक कीटाणु को मार देता है। इसी के साथ एक हीटिंग चेम्बर भी जुड़ा है। यहां करीब 65 डिग्री तापमान रहता है। इसमें प्रवेश करते ही व्यक्ति के शरीर का तापमान अचानक तीस डिग्री बढ़ जाता है। इस कारण कीटाणु मर जाते हैं। यह पूरा चेम्बर सेंसर युक्त है। इसे ऑपरेट करने के लिए किसी भी व्यक्ति की जरूरत नहीं है।

50 हजार में तैयार होगा चेम्बर-
प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि यह चेम्बर 50 हजार रुपए में तैयार हो जाएगा। इसमें जो भी उपकरण लगे हैं, वे बड़ी आसानी के साथ देश में उपलब्ध हैं। इसलिए इसके उत्पादन में कोई दिक्कत नहीं होगी। इससे पहले आईआईटी के वैज्ञानिक सस्ती पीपीई किट, मेडिकेटेड मास्क व पीपीई किट के लिए विशेष कोटिंग और पोर्टेबल वेंटीलेटर तैयार कर चुके हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper