JNU Violence: क्राइम ब्रांच करेगी जेएनयू हिंसा की जांच

नई दिल्ली: दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में रविवार शाम को हुई हिंसा को लेकर साबरमती होस्टल के सीनियर वॉर्डन ने इस्तीफा दे दिया है। हमने कोशिश की, लेकिन हम हॉस्टल को सुरक्षा नहीं प्रदान कर सके। वही, घबराए छात्र-छात्राओं ने कैंपस छोड़कर घर जाना शुरू कर दिया है। एक छात्रा का कहना है कि हिंसा करने वाले लोग बाहर से आए थे, उनके हाथ में लाठी-डंडे थे। यहां पर हालात ठीक नहीं हैं, इसलिए मैं कैंपस छोड़कर घर जा रही हूं।

बताया जा रहा है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दोपहर में पत्रकार वार्ता कर अपना पक्ष रखेगी। इस पत्रकार वार्ता में एबीवीपी से जुड़े घायल छात्र भी उपस्थित रह सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, गृहमंत्री मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के उपराज्यपाल से बात की है और गुजारिश की जेएनयू के सभी प्रतिनिधियों से बात करें।

जेएनय़ू के प्रतिनिधियों ने सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की और बताया कि सफदरजंग और एम्स में भर्ती 34 घायलों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। जेएनयू में रविवार शाम को हुई हिंसा का असर सोमवार को देखने को भी मिल सकता है। आक्रोशित छात्र प्रदर्शन कर सकते हैं। इस बाबत दिल्ली के कई इलाकों में रूट डायर्जन किया गया है। जेएनयू हिंसा को लेकर सियासी गर्माहट जारी है।

जेएनयू हिंसा में घायल हुए 23 छात्रो को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। कुछ छात्र अब भी विभिन्न अस्पतालों में भर्ती है। जेएनयू हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर बैठक चल रही है। इस बैठक में राज्य के सभी मंत्री और वरिष्ठ आम आदमी पार्टी के नेता मौजूद है। यूपी के पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर घटना की भर्त्सना की और इसकी न्यायिक जांच कराने की मांग की है। वहीं, मायावती ने भी जेएनयू की हिंसा की है।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि हमें विभिन्न पक्षों की ओर एक शिकायत मिली है। हम जल्द ही इन मामले में एफआइआर दर्ज करेंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में भी जेएनयू में हुई हिंसा का असर देखने को मिला। मुंबई में गेट-वे ऑफ इंडिया पर छात्रों का प्रदर्शन जारी है।

संभावित प्रदर्शन के मद्देनजर मथुरा रोड और कालिंदी कुंज के बीच 13A को बंद कर दिया गया है। कालिंदी कुंज बंद होने के कारण सिर्फ बारापुला नहीं मथुरा रोड, रिंग रोड, आउटर रिंग रोड और डीएनडी पर भी जाम लग रहा है। ऐसे में लोगों को सलाह दी गई है कि वे इस रास्ते का इस्तेमाल नहीं करे। वाहन चालकों से कहा गया है कि वे नोएडा से आ रहे लोगों को डीएनडी और अक्षरधाम के जरिये जाने की सलाह दी है।

जेएनयू में हिंसा के विरोध में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बाहर सोमवार को प्रदर्शन हो सकता है। ऐसे में पुलिस ने रूट डायवर्जन कर दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper