मैरीकॉम जैसा कोई नहीं, 7वीं बार पहुंचीं फाइनल में

नई दिल्ली, स्पोर्ट डेस्क, द लखनऊ ट्रिब्यून। तीन बच्चों की मां 35 वर्षीय एमसी मैरीकॉम का कोई जवाब नहीं। वह यहां चल रही विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के 48 किलोग्राम भार वर्ग के सेमीफाइनल में नॉर्थ कोरिया की किम ह्यांग मी को हराकर सातवीं बार फाइनल में पहुंच गयी हैं। उनसे पहले इतनी बार कोई भी बॉक्सर विश्व कप मुक्केबाजी के फाइनल में नहीं पहुंची है।

पांच बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम ने विश्व मुक्केबाजी में छह पदक (पांच गोल्ड, एक सिल्वर मेडल) जीते हैं। आयरलैंड की केटी टेलर भी 5 स्वर्ण के साथ छह पदक जीत चुकी हैं, लेकिन वह प्रोफेशनल बॉक्सर बन गई हैं। इस वजह से वह इस प्रतियोगिता में शिरकत नहीं कर रहीं। लिहाजा मैरीकॉम अब विश्व चैम्पियनशिप में सबसे ज्यादा पदक जीतने वाली महिला मुक्केबाज हो गईं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper