मोदी ने कहा-सत्ता के मद में चूर हैं दीदी, ममता ने कहा-जेल भेज दूंगी मोदी को

नई दिल्ली: कोलकाता में मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच हुई हिंसक झ़़डपों के बाद एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा के शीर्ष नेताओं ने मोर्चा संभाला तो दूसरी तरफ नेशनल कांफ्रेंस, बसपा और एनसीपी ममता बनर्जी के पक्ष में ख़़डे दिखाई दिए। गुरुवार को अंतिम दौर की चुनावी सभाओं में मोदी और ममता ने एक-दूसरे पर वार पर वार किए। इसके साथ ही राज्य में 19 घंटे पहले रात 10 बजे प्रचार थम गया।

बुधवार को ममता बनर्जी के आरोपों का जवाब मोदी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मऊ में अपनी पहली चुनावी सभा में दिया। ममता ने कहा था कि वह मोदी को बंगाल की संस्कृति से खेलने नहीं देंगी, भले ही उनकी जान क्यों न चली जाए। मऊ में प्रधानमंत्री ने उप्र के महागठबंधन पर तो निशाना साधा ही, ममता बनर्जी को भी घेरा। उन्होंने कहा तृणमूल अराजकता फैला रही है। वहां की मुख्यमंत्री सत्ता मद में चूर हैं। समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तो़ड़ी गई, भाजपा अब पंचधातु की मूर्ति लगवाकर गरीबों व महिलाओं के अधिकार की बात करने वाले सुधारक को सम्मान देगी।

उप्र में मऊ के अलावा चंदौली और मीरजापुर में रैली करने के बाद मोदी ने बंगाल में दक्षिण 24 परगना जिले के मथुरापुर संसदीय क्षेत्र और दमदम में सभाएं की। उन्होंने यहां भी ममता पर हमले जारी रखे। कहा-दीदी, यह पश्चिम बंगाल आपकी और आपके भतीजे की जागीर नहीं है। ये मां भारती का अटूट अंश है। बोले, यह देश सब कुछ स्वीकार कर सकता है, लेकिन अहंकार किसी का भी नहीं।

सामाजिक महापरिवर्तन का है महागठबंधन: मायावती

मोदी ने कहा, उप्र, बिहार, ओडिशा से जीविका कमाने बंगाल आने वाले लोगों से आपको समस्या है, लेकिन सीमा लांघ कर यहां आने वाले घुसपैठियों से आपको समस्या नहीं है। आरोप साबित करें वर्ना जेल भेज देंगे ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तो़़डे जाने के मोदी के आरोप से भ़़डकी ममता ने उनको चुनौती दी कि वह आरोपों को साबित करें वरना उन्हें जेल भेज देंगे।

ममता दक्षिण 24 परगना जिले के मथुरापुर संसदीय क्षेत्र में जनसभा को संबोधित कर रही थीं। ममता यहीं नहीं रुकीं, बोलीं, ‘प्रधानमंत्री कहते हैं कि वह विद्यासागर की मूर्ति बनवाएंगे। बंगाल के पास मूर्ति बनवाने के लिए पैसे हैं। क्या वह 200 साल पुरानी धरोहर को लौटा सकते हैं? हमारे पास सबूत है और आप कहते हैं कि तृणमूल ने किया है। क्या आपको शर्म नहीं आती है? इतना झूठ बोलने के लिए उनको उठक-बैठक करनी चाहिए। मैं जो कह रही हूं उसके लिए जेल जाने को भी तैयार हूं।’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper