नादिया मुराद व स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. डेनिस मुकवेगे को नोबेल शांति पुरस्कार

द लखनऊ ट्रिब्यून डेस्क। नार्वे के ओस्ले शहर में शुक्रवार को पांच सदस्यों की कमेटी ने  नादिया मुराद और डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को नोबेल शांति पुरस्कार देने की घोषणा की।

यजीदी नादिया मुराद रेप पीडित हैं। उन्हें आईएस के लड़ाकों ने सेक्स स्लेव बनाया था। डीआर कांगों के डॉ. मुकवेगे स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। ये दोनों हस्तियां विश्व स्तर पर यौन हिंसा के खिलाफ और महिला अधिकारों के लिए प्रभावी मुहिम चला रहे हैं। उनकी इसी खासियत के लिए उन्हें यह सम्मान दिया गया।

पुरस्कार चयन समिति ने कहा कि दोनों ही विजेताओं ने युद्ध क्षेत्र में यौन हिंसा को हथियार की तरह इस्तेमाल किए जाने की मानसिकता के खिलाफ सराहनीय काम किया है। यौन हिंसा के खिलाफ इनके सर्वोच्च योगदान को देखते हुए नोबेल शांति सम्मान दिया जा रहा है।

आईएस लड़ाकों से जान बचाकर निकलने के बाद से ही नादिया मुराद पूरी दुनिया में महिलाओं को यौन हिंसा के खिलाफ जागरूक करने का काम कर रही हैं। डॉक्टर मुकवेगे भी यौन हिंसा की शिकार महिलाओं के लिए लम्बे समय से काम कर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper