UAN Number कैसे Activate करें,UAN नंबर के फायदे?

लोग नौकरी करते हैं उनके लिए उनका पीएफ़ जीवनभर की जमा पूंजी होती है. पीएफ़ को लेकर लोगों के मन में कई सवाल होते हैं. कई बार PF को लेकर समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. जैसे मान लीजिये आपको पीएफ़ बेलेन्स चेक (PF Balance Check) करना है तो आप कैसे करें? ऐसी कई सारी समस्याओं से आपको जूझना पड़ता है. वैसे इन सभी समस्याओं का समाधान एक ही है और वो है UAN Number.

UAN Number क्या है? What is UAN Number

जिन लोगों का पीएफ़ अकाउंट (PF Account)  है उन लोगों के लिए UAN Number काफी जरूरी होता है. UAN का पूरा नाम Universal Account Number होता है. ये एक 12 अंकों का नंबर होता है जो पीएफ़ खाता धारकों को EPFO के द्वारा दिया जाता है. दरअसल ये UAN Number ही उनके पीएफ़ की पहचान होती है. जिन लोगों का पीएफ़ काटता है उन लोगों के पास UAN Number जरूर होना चाहिए. ये UAN नंबर आपको एक बार मिल जाता है और जिंदगी भर एक ही नंबर रहता है. ये कभी नहीं बदलता. अगर आप नौकरी छोड़ कर कहीं और भी जाते हैं तो आप फिर से उसी अकाउंट को अपने यूएएन नंबर के जरिये अकाउंट को शुरू कर सकते हैं.

UAN नंबर कैसे पता करें? How to find UAN number?

UAN नंबर पता करने के दो तरीके हैं लेकिन इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी ये है की आपका UAN नंबर एक्टिवेट हो. तभी आप UAN नंबर के बारे में जान पाएंगे.

UAN नंबर पता करने का सबसे आसान तरीका है की आप अपनी कंपनी के एचआर डिपार्टमेन्ट (एचआर डिपार्टमेन्ट)  में जाएँ और इसके बारे में पता करें. आप अपनी सैलरी स्लिप पर भी UAN नंबर को चेक कर सकते हैं. अगर आपको यहाँ से भी UAN नंबर नहीं मिल पाता है या आपका यूएएन नंबर नहीं बना है तो आप इसे जनरेट कर सकते हैं.

UAN नंबर कैसे जनरेट करें? How to generate UAN number?

UAN नंबर एक्टिवेट करने के लिए आप सबसे पहले आधार नंबर, पैन कार्ड, पीएफ़ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, (PF member id) को अपने पास रखें. इसके बाद निम्न प्रोसैस करें.

– सबसे पहले आप UAN के पोर्टल पर जाएँ और Member E Seva ऑप्शन पर क्लिक करें.

– इसमें सबसे नीचे आपको important link सेक्शन में Know Your UAN status पर क्लिक करें.

– अब आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा. इस फॉर्म में आपको आधार नंबर, पैन कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, पीएफ़ मेम्बर आईडी और कैप्चा कोड भरकर Get Authorization PIN पर क्लिक करना है.

– अब आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा. इस OTP को आपको इस वेबसाइट में एंटर करना है. और Check status पर क्लिक करना है. इसके बाद आपके UAN नंबर से जुड़ी सारी जानकारी आपको मिल जाएगी.

UAN नंबर कैसे एक्टिवेट करें? How to activate UAN number?

आपको ऊपर बताए गए तरीके से यूएएन नंबर मिल तो जाएगा लेकिन उसे आपको एक्टिवेट करना पड़ेगा. इसे एक्टिवेट करने के लिए आप अपने पास पीएफ़ मेम्बर आईडी, UAN Number, Date of Birth, Aadhaar Number, PAN Card, Email ID, Mobile Number अपने पास रखें.

– UAN नंबर एक्टिवेट करने के लिए सबसे पहले UAN की वेबसाइट पर जाएँ और Member E Seva पर क्लिक करें.

– इसमें नीचे की तरफ आपको important link के सेक्शन में Activate UAN का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें.

– अब आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा. इस फॉर्म में मांगी गई सारी जानकारी सही तरीके से भरे और Get Authorization PIN पर क्लिक करें.

– अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर एक ओटीपी आएगा जिसे आपको वेबसाइट में एंटर करना है.

– ओटीपी को एंटर करके Validate OTP and activate UAN पर क्लिक करें और आपका UAN नंबर एक्टिवेट हो जाएगा.

UAN नंबर को मोबाइल से कैसे एक्टिवेट करें? How to activate UAN number from mobile?

अगर आपके पास वो मोबाइल नंबर है जिसे आपने पीएफ़ अकाउंट पर रजिस्टर कर रखा है तो आप अपने मोबाइल से एसएमएस के माध्यम से भी यूएएन नंबर को एक्टिवेट कर सकते हैं.

– मोबाइल की मदद से UAN नंबर को एक्टिवेट करने के लिए आप एक मैसेज क्रिएट करें.

– आप जो मैसेज भेजना चाहते हैं उसका जवाब अगर आप हिन्दी में चाहते हैं तो आखिरी में आपको HIN लिखे और इंग्लिश के लिए ENG लिखें. मैसेज को आपको 7738299899 पर भेजना है. मैसेज में आपको लिखना है EPFOHO UAN HIN या EPFO UAN ENG.

– इस मैसेज को अपने मोबाइल से बताए गए नंबर पर भेजें. इसका चार्ज नॉर्मल ही लगेगा जो आमतौर पर लगता है.

– मैसेज भेजने के बाद आपको UAN Number activate होने की जानकारी मैसेज के द्वारा प्राप्त हो जाएगी.

UAN Number के फायदे Benefits of UAN Number

UAN number के एक्टिवेट होने के साथ ही आप कई सारे फायदे उठा सकते हैं. आप अपने पीएफ़ अकाउंट के बारे में कई सारी जानकरियाँ घर बैठे अपने मोबाइल के माध्यम से ही पा सकते हैं.

– PF Balance Check कर सकते हैं.

– PF Transfer कर सकते हैं.

– कई PF Account को एक साथ जोड़ सकते हैं.

– PF Passbook डाउनलोड कर सकते हैं.

– पीएफ़ अकाउंट से जुड़ी सारी जानकारी देख सकते हैं.

– मोबाइल के जरिये मैसेज भेजकर पीएफ़ बेलेन्स चेक कर सकते हैं.

– पीएफ़ स्टेटमेंट देख सकते हैं.

UAN नंबर आपके काफी काम की चीज है. अगर आपका पीएफ़ अकाउंट है और UAN नंबर नहीं है तो आप सबसे पहले अपने UAN नंबर को जनरेट और एक्टिवेट करें. इसकी मदद से आप कई सारे काम घर बैठे ही कर सकते है. कई बार आपको अपना पीएफ़ चेक करने के लिए दूसरों की मदद लेनी पड़ती है या पैसे देकर आपको अपना पीएफ बैलेंस चेक (PF Balance Check) करना पड़ता है. आप इन सभी समस्याओं से UAN नंबर की मदद से छुटकारा पा सकते हैं.

UAN नंबर के एक्टिवेट होने के बाद आप पीएफ़ अकाउंट के बारे में जानकारी देने वाला ऐप Umang app भी आसानी से चला सकते हैं. इस App में भी आपको पीएफ़ अकाउंट से जुड़ी कई सारी जानकारी मिल जाती है. अगर आप पीएफ़ को लेकर छोटी-छोटी चीजों पर परेशान नहीं होना चाहते हैं तो आपको UAN नंबर जरूर एक्टिवेट करवाना चाहिए.

अगर ये आपके पास नहीं है तो आप सबसे पहले इसे जनरेट करवाएँ फिर इसे एक्टिवेट करवाएँ. आगे चलकर ये आपकी काफी मदद करेगा क्योंकि पीएफ़ विथड्रॉ आजकल ऑनलाइन होता है और फॉर्म भी Online भरे जाते हैं जिसके लिए UAN नंबर जरूरी है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper