अफजल गुरु वाली सेल में भेजा गया आतंकी यासीन भटकल

नई दिल्ली: तिहाड़ जेल में बंद आतंकवादी यासीन भटकल की जेल बदल दी गई है। अब इसे उस जेल के सेल में शिफ्ट किया गया है, जिसमें कभी संसद हमले का दोषी आतंकवादी अफजल गुरु बंद था। अफजल को 9 फरवरी 2013 में सुबह तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया था। इसके बाद से इस सेल में पहली बार ऐसा हुआ है जब किसी बड़े आतंकवादी को उसी सेल में शिफ्ट किया गया है, जिसमें कभी अफजल बंद था।

हालांकि, अफजल को फांसी पर लटकाने के बाद अक्सर इस सेल में अफजल का भूत दिखाई देने जैसी अफवाहें कई बार उड़ चुकी हैं। बताया जाता है कि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भटकल की सेल बदली गई है। पहले इसे जेल नंबर-4 में कुछ और कैदियों के साथ रखा गया था लेकिन अब उसे जेल नंबर-3 में अफजल वाले सेल में शिफ्ट कर दिया गया है।

इसके सेल से चंद कदमों की दूरी पर फांसी का तख्ता भी है। इस हाई सिक्यॉरिटी वॉर्ड में 10 सेल हैं। इसमें से ब्लॉक-1 के सेल नंबर-1 में भटकल को शिफ्ट किया गया है। भटकल को 28 अगस्त 2013 को गिरफ्तार किया गया था। तिहाड़ जेल में उसे लंबे समय तक जेल नंबर-4 में रखा गया लेकिन पिछले कुछ दिनों से इसके बारे में तेज हुई हलचलों को देखते हुए इसकी जेल को बदल दिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper